Feb 29, 2020

मत खून बहाओ भारत का...

भारत है उन इन्सानों का,
जो इंसान, इन्सानों के लिए लड़ते है; 
भारत है उन लोगों का, 
जो एक-दूसरे पर जुल्म-
भेदभाव नहीं करते  है; 
मत खून बहाओ भारत का, 
मत खून बहाओ भारत का... 


मंदिर-मस्जिद में अंधे होकर, 
नफरत की भाव न जगाओ तुम; 
इस नफरत की आँधी में, 
हिंसा की आग न लगाओ तुम; 
मत खून बहाओ भारत का, 
मत खून बहाओ भारत का... 


हिन्दू-मुस्लिम के झगड़े छोड़ो, 
प्यार से नाता जोड़ो; 
मत खून बहाओ भारत का, 
मत खून बहाओ भारत का... 


अंधभक्त धर्म के नामपर, 
एक-दूसरे का घर जलाते है; 
कोई जय श्रीराम, 
तो कोई अल्लाहु-अकबर गाते है; 
मत खून बहाओ भारत का, 
मत खून बहाओ भारत का...


यह देश है हर इन्सानों का, 
जो सत्य, समानता, मानवता 
और प्रेम के लिए मरते है; 
राजनीति में नेता मुद्दों से 
ध्यान भटकाने के लिए, 
हिन्दू-मुस्लिम करते है; 
मत खून बहाओ भारत का, 
मत खून बहाओ भारत का... 


मजदूर, दलित, किसानों में, 
शिक्षा का भाव जगाओ तुम; 
पूंजीवाद खत्म कर, 
शोषण मुक्त भारत बनाओ तुम; 
मत खून बहाओ भारत का, 
मत खून बहाओ भारत का... 


Reactions

0 Comments:

Post a Comment